preloader
Call Now

इन यौन समस्याओं के संकेतों का न करें नजर अंदाज हो सकते है गंभीर परिणाम तुरंत SEXOLOGIST से संपर्क करें

  • Home
  • -
  • Uncategorized
  • -
  • इन यौन समस्याओं के संकेतों का न करें नजर अंदाज हो सकते है गंभीर परिणाम तुरंत SEXOLOGIST से संपर्क करें

इन यौन समस्याओं के संकेतों का न करें नजर अंदाज हो सकते है गंभीर परिणाम तुरंत SEXOLOGIST से संपर्क करें

इन यौन समस्याओं के संकेतों का न करें नजर अंदाज हो सकते है गंभीर परिणाम तुरंत SEXOLOGIST से संपर्क करें। 


यौन समस्याओं की वजह से कई बार रिश्तों में भी दरार आ जाती है। लेकिन अक्सर विशेषकर भारत में लोग ऐसी स्थितियों में मदद मांगने की बजाय चुप रहना बेहतर समझते हैं। जानकारी के अभाव में स्थिति और भी गंभीर हो जाती है क्योंकि लोग कम जानकारी के कारण एक्सपर्ट्स से बात करने में संकोच करते हैं। अगर आप भी इन यौन समस्याओं से पीड़ित है तो सेक्सुअल एक्सपर्ट से संपर्क करने में संकोच न करें ।

1. लो सेक्स ड्राइव –  लो सेक्स ड्राइव का अर्थ है कि आप अपने पार्टनर के नज़दीक नहीं आना चाहते। इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे- हार्मोनल बदलाव (महिला पुरूष दोनों में),
शारीरिक कमियां, थकान या कोई दवा। प्रेगनेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान भी कई बार लो सेक्स ड्राइव की समस्या हो सकती है। अगर यह समस्या बहुत दिनों तक रहती है तो  इसका परिणाम आपके पार्टनर को भी भुगतना पड़ता है बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से बात करें।

2. फिज़ियोलॉजिकल समस्याएं- अक्सर पुरुषों को इरेक्टाइल  डिसफंक्शन, प्रीमैच्योर इजैक्यूलेशन या पेनिट्रेट करने या पेनिट्रेशन के बाद सेक्स में दिक्कत होती है तो ये फिज़ियोलॉजिकल समस्या है। इनका इलाज संभव है। किसी सेक्सुअल एक्सपर्ट से बात करने पर आपको सही उपचार की जानकारी मिल सकती है। तो वहीं महिलाओं को वैजाइना में सूखापन या संकुचन, प्री-मेनोपॉज, वैजाइना ट्रॉमा जैसी स्थितियों में इंटरकोर्स में परेशानी हो सकती है। सही समय पर डॉक्टर से सम्पर्क कर इन समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

3. सेक्सुअल डिज़ायर में अंतर- दोनों पार्टनर्स के बीच सेक्सुअल रिलेशन्स के प्रति एक समान ऊर्जा नहीं दिखायी पड़ती। आप दोनों में से किसी एक को तनाव, लो सेक्स ड्राइव या ऐसी कुछ और समस्या हो सकती है। हालांकि सबसे अच्छा यही होगा कि आप दोनों खुलकर बात करें और एकसाथ सेक्सलॉजिस्ट से मिलें। समस्या का सही कारण पता लगाने और उसके इलाज के लिए एक टीम के तौर पर जाना ज़्यादा फायदेमंद होगा।

4. सेक्स ऑब्सेस्ट: अगर सेक्सुअल विचार आपके दिमाग में हमेशा छाए रहते हैं और यह आपके कामकाज़ और रोज़मर्रा की ज़िंदगी को प्रभावित कर रहे हैं तो यह एक साइकोलॉजिकल समस्या हो सकती है। जिसे जल्द इलाज की आवश्यकता हो सकती है। किसी थेरपिस्ट या सेक्सोलॉजिस्ट से बात करने से इस समस्या के मूल कारण का पता लगाया जा सकेगा।

5. सेक्स के बाद अपराधबोध –
 कुछ लोगों के लिए सेक्स के साथ गिल्ट या अपराधबोध जुड़ा होता है। इसका कारण चाइल्ड अब्यूज़ जैसे कुछ बुरे अनुभव हो सकते हैं या कोई विशेष कारण। कारण कुछ भी हो लेकिन इस समस्या और भावना से मुक्त होने के लिए आपको किसी एक्सपर्ट से बात करनी चाहिए।

6. ऑरगैज़्म नहीं होता –
अक्सर महिलाओं को यह शिकायत होती है जबकि पुरुषों को ईजैक्यूलैशन के साथ ही ऑर्गैज़्म हो जाता है। सेक्स ड्राइव, अच्छे पार्टनर और लवमेंकिग के बावजूद अगर आपको ऑरगैज़्म नहीं महसूस होता तो तुरंत सेक्सोलॉजिस्ट से बात करनी चाहिए।

7. डिज़ायर के बावजूद कुछ नहीं कर पा रहे- कई बार ऐसा होता है कि सबकुछ सही होने के बावजूद आप इंटरकोर्स नहीं कर पाते या फिर इंटरकोर्स में बहुत दर्द महसूस होता है। यह एक संकेत हो सकता है कि आपको किसी सेक्सोलॉजिस्ट से बात करना चाहिए।

 
 

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 9305273775

Leave a Reply

Your email address will not be published.