Call Now

“जिनसेंग” यौन समस्याओं की उपयोगी औषधि

  • Home
  • -
  • Uncategorized
  • -
  • “जिनसेंग” यौन समस्याओं की उपयोगी औषधि

“जिनसेंग” यौन समस्याओं की उपयोगी औषधि

“जिनसेंग” यौन समस्याओं की उपयोगी औषधि


यौन समस्या और बांझपन आज दुनियां में बढ़ती हुई एक आम समस्‍या बन चुकी है। दुनिया भर में लगभग 48 प्रतिशत पुरुष यौन कमजोरी और बांझपन के शिकार हैं।
प्रजनन क्षमता में कमी होने के कई कारण होते हैं। लेकिन सेक्‍स और प्रजनन क्षमता बढ़ाने में आहार और औषधियां अहम योगदान देते हैं। बहुत से लोग यौन शक्ति बढ़ाने और बांझपन को दूर करने के नाम पर कई प्रकार की औषधियां  उपयोग कर रहे हैं। प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाली औषधि के रूप में बहुत से आयुर्वेदिक चिकित्‍सक जिनसेंग का उपयोग करने की सलाह देते हैं।

जिनसेंग क्‍या है?

जिनसेंग एक औषधीय जड़ी बूटी है जो प्राचीन समय से ही यौन कमजोरी और बांझपन को दूर करने में उपयोग की जा रही है। जिनसेंग को वैज्ञानिक रूप से पैनेक्‍स जिनसेंग (Panax ginseng) के रूप में जाना जाता है। सामान्‍य रूप से इस औषधी का उपयोग शारीरिक थकान, तनाव और अनिद्रा का इलाज करने में प्रभावी माना जाता है। ये सभी कारण किसी भी महिला या पुरुष में बांझपन का कारण बनते हैं।

औषधी के रूप में नियमित सेवन करने पर जिनसेंग बांझपन और यौन दुर्बलता को कम करने में सहायक होते हैं।

 
यौन समस्‍या के प्रकार

हम सभी लोग यौन समस्‍याओं या यौन रोग का नाम सुनते ही सीधे बांझपन या नामर्दानगी समझ लेते हैं। जबकि ऐसा नहीं है। यौन समस्‍याओं के प्रकार अलग-अलग होते हैं 
यौन रोग सामान्‍य रूप से 3 प्रकार के होते हैं।

स्‍तंभन दोष

किसी भी पुरुष में स्‍तंभन दोष (Erectile dysfunction) सेक्‍स करने के दौरान आने वाली समस्‍या है। इस दौरान सेक्‍स करते समय पुरुषों के लिंग में पर्याप्‍त उत्‍तेजना या कड़ापन नहीं होता है। इस यौन समस्‍या के पीछे कई शारीरिक और मानसिक कारण होते हैं।
शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं में मधुमेह, गुर्दे और यकृत की समस्‍याएं, हृदय रोग और हार्मोनल असंतुलन आदि। जबकि मानसिक कारणों में तनाव, अनिद्रा और अवसाद आदि होते हैं।
स्तंभन दोष से बचने के लिए आप इन स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍यओं पर विशेष ध्‍यान दें।


स्‍खलन में परेशानी

यौन संबंध बनाने के दौरान स्‍खलन में होने वाली कठिनाई पुरुषों की प्रमुख यौन समस्‍या में से एक है। स्‍खलन की 3 श्रेणियां होती हैं।

शीघ्रपतन (premature) – इस दौरान जब कोई पुरुष यौन संबंध बनाता है तब वह समय से पहले या बहुत ही जल्‍दी स्‍खलित हो जाता है। जिससे उसे और महिला साथी को पर्याप्‍त यौन सुख प्राप्‍त नहीं होता है।

रुक-रुक कर स्‍खलन होना (inhibited) –इस दौरान किसी पुरुष साथी को सेक्‍स के दौरान वीर्य उत्‍सर्जन करने में बहुत परेशानी होती है। इस यौन समस्‍या में यौन संबंध बनाते समय या तो स्‍खलन होता ही नहीं है या बहुत देर तक रूक-रुक कर होता है।

वीर्य का पीछे जाना (retrograde) – इस प्रकार की समस्‍या में स्‍खलन तो होता है लेकिन वीर्य मूत्र मार्ग से बाहर जाने की बजाय अंदर की तरफ मूत्राशय में ही प्रवाहित होते हैं। यह स्‍खलंन संबंधी समस्‍याओं में सबसे गंभीर स्थिति होती है।

पुरुषों में प्रजनन क्षमता संबंधी समस्याओं के लिए उपयोगी 


इस प्रकार की यौन समस्‍या गंभीर होती है क्‍योंकि यह सीधे ही आपकी यौन और प्रजनन क्षमता को प्रभावित करती हैं। इस प्रकार की यौन समस्‍या हार्मोनल असंतुलन, लगातार अवसादरोधी (antidepressants) दवाओं अधिक का सेवन, धूम्रपान और मदिरापान आदि के कारण होती हैं। ये सभी कारण किसी भी पुरुष में बांझपन का कारण बन सकते हैं। लेकिन ऊपर बताई गई सभी यौन समस्‍याओं को दूर करने में जिनसेंग एक प्रभावी औषधी मानी जाती है।

 जिनसेंग पुरुष और महिलाओं दोनों की कामेच्‍छा को बढ़ाने में सहायक होते हैं। जिन लोगों को प्रजनन क्षमता संबंधी समस्‍याएं होती हैं उन्‍हें विशेष रूप से जिनसेंग का सेवन करने की सलाह दी जाती है। जिनसेंग में कई प्रकार के जिनसिनोइड सैपोनिन (ginsenosidesaponins) होते हैं। ये घटक प्रभावशील फाइटोकेमिकल्‍स होते हैं। जिसके कारण तनाव, चिंता आदि को दूर करने के साथ ही यह रोगप्रतिरोध क्षमता में वृद्धि करता है। आप अपनी जीवनशक्ति, ऊर्जा, समग्र स्‍वास्‍थ्‍य और प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए जिनसेंग जड़ी बूटी का औषधीय उपयोग कर सकते हैं।

जिनसेंग के लाभ 

 
जिनसेंग पुरुषों के शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए

यौन कमजोरी का एक सामान्‍य कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी हो सकती है। जिनसेंग का नियमित सेवन करने से प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत किया जा सकता है। इसके अलावा जिनसेंग तनाव को कम करने, स्‍वस्‍थ रक्‍त परिसंचरण को बढ़ावा देने और सहनशक्ति को बढ़ाने में सहायक होता है। यदि आपके शरीर में इस प्रकार की समस्‍याएं होती हैं तो ये आपकी यौन क्षमता के लिए हानिकारक हो सकता है। जिससे पुरुषों में बांझपन की समस्‍या हो सकती है।

 
जिनसेंग शुक्राणुओं की संख्‍या बढ़ाये

जिनसेंग का नियमित सेवन पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या और उनकी गुणवत्ता को बढ़ाने में सहायक होता है। जिनसेंग का उपभोग करने पर प्रत्‍येक स्‍खलन के दौरान शुक्राणुओं की गतिशीलता और संख्‍या में वृद्धि के कारण प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है। यदि शुक्राणुओं की संख्‍या प्रति स्‍खलन के दौरान 20 मिलियन से कम होती है तो यह प्रजनन क्षमता में कमी या बांझपन के लक्षणों को दर्शाता है। स्‍वस्‍थ यौन क्षमता वाले लोगों में शुक्राणु मूत्र मार्ग में सीधे आगे बढ़ते हैं जबकि जिन लोगों की प्रजनन क्षमता कमजोर होती है उनके शुक्राणु सर्पिल गति से चलते हैं। जिससे वे महिला अंडाशय को निषेचित करने में अस्मर्थ रहते हैं। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का सेवन करने से 50 प्रतिशत तक प्रति स्‍खलन तक समग्र गतिशीलता को बढ़ाने में मदद करता है।


जिनसेंग हाइपोथैलेमस को नियंत्रित करे


अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का सेवन करने से पुरुषों के शरीर में हाइपोथैलेमस को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। जिससे पुरुषों में टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्‍तर को बढ़ाया जा सकता है। टेस्‍टोस्‍टेरोन एक प्रमुख यौन हार्मोन है जो यौन क्षमता को बढ़ाने के साथ ही हृदय को भी स्‍वस्‍थ रखता है। टेस्‍टोस्‍टेरोन पुरुषों के शरीर में कोर्टिसोल नामक हार्मोन को भी नियंत्रित करता है जो तनाव और अवसाद आदि का प्रमुख कारण होता है।

 
जिनसेंग रक्‍त शर्करा कम करे

मानव शरीर में रक्‍त शर्करा का उच्‍च स्‍तर भी प्रजनन क्षमता में कमी या बांझपन का कारण बन सकता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का सेवन करने से रक्‍त शर्करा के स्‍तर को भी नियंत्रित करने में मदद मिलती है। शरीर में ग्‍लूकोज का उच्‍च स्‍तर होने के पुरुषों की सेक्‍स सहनशक्ति कमजोर हो सकती है। जिससे वे सेक्‍स के दौरान लंबे समय तक नहीं टिक पाते हैं। यही कारण है कि अधिकांश मधुमेह रोगी बांझपान या कमजोर यौन शक्ति का शिकार होते हैं। लेकिन नियमित रूप से आप जिनसेंग का औषधीय सेवन कर इस प्रकार की समस्‍या से बच सकते हैं।

 
जिनसेंग तनाव कम करे

जिनसेंग एक जड़ी बूटी है जिसमें औषधीय गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। यह न केवल आपके यौन स्‍वास्‍थ्‍य बल्कि मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को भी बढ़ावा देने में प्रभावी मानी जाती है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिनसेंग का मानव शरीर में शांत प्रभाव पड़ता है जो तनाव प्रबंधन में मदद करता है। यदि आप भी तनाव या अवसाद जैसी स्थितियों से गुजर रहे हैं तो यह आपकी कामेच्‍छा पर नकारात्‍मक प्रभाव डाल सकती है। इसलिए अपने तनाव को कम करने और प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए आप जिनसेंग का उपयोग कर सकते हैं।

 
जिनसेंग यौन प्रदर्शन बढ़ाये

यौन शक्ति बढ़ाने के पारंपरिक उपचार में जिनसेंग का व्‍यापक रूप से उपयोग किया जाता है। प्रजनन क्षमता संबंधी लाभों के संदर्भ में जिनसेंग पर कई प्रकार के अध्‍ययन किये गए हैं जिनसे यह पुष्टि होती है कि जिनसेंग यौन प्रदर्शन और सेक्‍स क्षमता दोनों को बढ़ा सकता है। एक अध्‍ययन में स्‍तंभन दोष वाले 45 रोगियों को श‍ामिल किया गया जिन्‍हें नियमित रूप से जिनसेंग का सेवन कराया गया। इन सभी लोगों के स्‍तंभन प्रदर्शन में सुधार पाया गया। बांझपन जैसी समस्‍या को दूर करने के लिए 8 सप्‍ताह तक प्रतिदन 900 मिली ग्राम जिनसेंग का सेवन दिन में 3 बार करना चाहिए। ऐसा करने से स्‍तंभन दोष सहित अन्‍य यौन कमजोरियों और परेशानीयों को प्रभावी रूप से दूर किया जा सकता है।

जिनसेंग कामेच्‍छा बढ़ाये

जिनसेंग पर किये गए अध्‍ययनों से पता चलता है कि एशियाई और अमेरिकी दोनों प्रकार की जिनसेंग का नियमित सेवन करने से यौन इच्‍छा में वृद्धि में हाती है। एक पशु अध्‍यनन के अनुसार चूहों को प्रति किलो ग्राम वजन के अनुसार एशियाइ जिनसेंग 25-100 मिली ग्राम और अमेरिकी जिनसेंग 2.5 से 10 मिली ग्राम का दैनिक आधार पर सेवन कराया गया। जिससे उन चूहों में सेक्‍स की प्र‍वृत्ति में वृद्धि देखी गई। जिनसेंग का नियमित रूप से पुरुषों द्वारा सेवन करने पर उनके शरीर में हार्मोन संतुलन को बनाए रखने में भी मदद मिलती है। जिनसेंग के औषधीय गुण पुरुष सेक्‍स स्‍टेरॉयड, टेस्‍टोस्‍टेरोन, ल्‍यूटिनाइजिंग हार्मोन आदि को भी बढ़ाने में सहायक होता है। जिससे पुरुषों की कामेच्‍छा में सुधार होता है। यदि आप में भी कामेच्‍छा की कमी है तो अपने दैनिक दिनचर्या में जिनसेंग का नियमित सेवन शामिल करें।

जिनसेंग के उपयोग में सावधानियाँ 

जिनसेंग एक औषधीय जड़ी बूटी है जो स्‍वाभाविक रूप से मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छी होती है। लेकिन औषधीय गुण होने के कारण इसके कुछ दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं। विशेष रूप से अधिक मात्रा में सेवन करने के दौरान।

मधुमेह रोगियों को जिनसेंग का सेवन करने से पहले अपने स्‍वास्‍थ्‍य सलाहकार से बात करनी चाहिए। क्‍योंकि अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह शरीर में रक्‍त शर्करा को सबसे निचले स्‍तर पर ले जा सकता है।

कैफीन और अन्‍य उत्‍तेजक पदार्थों के साथ जिनसेंग का सेवन हानिकारक हो सकता है। इसलिए जिनसेंग का सेवन करने के दौरान अपने डॉक्‍टर को अपनी स्थिति की पूरी जानकारी दें और उनकी सलाह पर ही जिनसेंग का सेवन करें।

कुछ विशेष प्रकार की दवाओं का उपयोग करने के दौरान जिनसेंग का इस्‍तेमाल करने से बचना चाहिए। यदि आप हृदय रोगी हैं, खून पतला करने की दवा ले रहे हैं, उच्‍च या निम्‍न रक्‍तचाप की दवाएं ले रहे हैं, तब ऐसी स्थिति में जिनसेंग का सेवन करने से बचना चाहिए।

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Gmail: dr.b.k.kashyap@gmail.com

Blogger:  https://drbkkashyap.blogspot.com/   

Justdial:

https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-in-Civil-Lines/group


Website:  http://www.drbkkashyapsexologist.com/

https://www.kashyapclinic.com

https://www.youtube.com/c/KashyapClinicPrayagraj/videos

https://www.facebook.com/kashyapclinicprayagraj

https://www.instagram.com/kashyapclinicprayagraj

Lybrate:  https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist

Sehat :  https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad

Linkdin: https://www.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780/?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 2 =