Call Now

लिंग में सूजन का होना

  • Home
  • -
  • Uncategorized
  • -
  • लिंग में सूजन का होना

लिंग में सूजन का होना

लिंग में सूजन का होना

लिंग में सूजन (इन्फेक्शन) होना एक  पेनाइल डिसऑर्डर है, जिसमें लिंग की चमड़ी में संक्रमण के कारण लिंग के ऊपरी हिस्से में सूजन आ जाती है। यह बीमारी किसी भी पुरुष को प्रभावित कर सकती है।

ऐसे पुरुष जिनका खतना नहीं हुआ होता है, उनमें इस बीमारी के पनपने का खतरा अधिक रहता है। इस बीमारी से बचने के लिए अपने लिंग की चमड़ी जिसे हम फोरस्किन के नाम से जानते हैं इसकी देखभाल करनी चाहिए तथा समय-समय पर हल्के गर्म पानी से उसकी सफाई करनी चाहिए।
डॉक्टर का कहना है कि 4 साल से कम उम्र के बच्चों में यह समस्या होने की संभावना अधिक होती है, जो कुछ समय के बाद खुद ही ठीक हो जाती है, लेकिन अगर यही समस्या वयस्क में हो जाए तो इलाज की आवश्यकता पड़ती है।

जो लोग फाइमोसिस से पीड़ित होते हैं, उन्हें यह समस्या होने का खतरा अधिक होता है। क्योंकि फाइमोसिस की स्थिति में लिंग की ऊपरी चमड़ी काफी टाइट हो जाती है, जिसके कारण उसे पीछे हटाने में परेशानी होती है। चमड़ी पीछे न हटने के कारण इंफेक्शन, सूजन, दर्द और जलन होने की संभावना भी बढ़ जाती है।


लिंग में इन्फेक्शन होने के कारण

लिंग की चमड़ी में इन्फेक्शन होने के कई कारण हो सकते हैं। अगर आपको पहले से इन कारणों के बारे में पता हो तो आप कुछ सावधानियां अपनाकर बहुत आसानी से इस बीमारी की रोकथाम कर सकते हैं।


स्मेग्मा – स्मेग्मा (लिंग की चमड़ी के नीचे मौजूद मोटे सफेद पदार्थ) के कारण लिंग की चमड़ी में सूजन हो सकता है। यह एक प्राकृतिक रूप से चिकनाई प्रदान करने वाला पदार्थ है जो लिंग में नमी बनाए रखता है। जिसके कारण लिंग की सफाई नहीं हो पाती है और संक्रमण पैदा हो जाता है।


फंगल इन्फेक्शन – फफुन्दीय संक्रमण भी बैलेनाइटिस के कारणों में से एक है। एक बहुत ही सामान्य प्रकार का जीवाणु बैलेनाइटिस का कारण बन सकता है।


एलर्जी – किसी चीज के प्रति एलर्जी तथा स्किन में जलन होने के कारण लिंग में सूजन हो सकता है। आमतौर यह केमिकल वाले साबुन, शैंम्पू, क्रीम या पाउडर का इस्तेमाल करने से होता है।


त्वचा संबंधी बीमारी – एटॉपिक एक्जिमा या सोरिएसिस जैसी अंडरलाइंग स्किन डिजीज से पीड़ित होने की स्थिति में लिंग की चमड़ी में सूजन होने का खतरा बढ़ जाता है। लाइकेन प्लेनस शरीर को प्रभावित करने वाला एक गैर-संक्रामक और खुजलीवाला चकत्ता है जो लिंग को प्रभावित करता है। लाइकेन स्क्लेरोसस प्राइवेट पार्ट्स में होने वाली एक स्किन डिजीज है जिससे पीड़ित पुरुष को बैलेनाइटिस होने का खतरा होता है।


यौन संक्रमण – योनि संक्रमण से पीड़ित महिला के साथ सेक्स करने से लिंग में सूजन पैदा हो सकता है। यौन संचारित बीमारियां जैसे कि जननांग दाद, क्लैमाइडिया प्रमेह या सिफलिस आदि भी लिंग में सूजन का कारण बन सकते हैं।
लेटेक्स कंडोम – अगर आप सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करते हैं तो आपको बैलेनाइटिस होने की संभावना रहती है क्योंकि कंडोम में प्रयोग होने वाले लेटेक्स से लिंग में जलन पैदा हो सकती है। हालांकि, सेक्स के दौरान सुरक्षा के लिए कंडोम का उपयोग करना बहुत जरूरी है,

जुंस बैलेनाइटिस – एक असामान्य बीमारी है जो मध्यम आयु वर्ग के पुरुषों को सबसे अधिक प्रभावित करती है। इससे पीड़ित होने की स्थिति में लिंग का सिर लाल हो जाता है तथा उसमें सूजन, जलन और खुजली होती है। 

कुंडलाकार बैलेनाइटिस – एक तरह का सोरिएसिस है जो प्रतिक्रियाशील गठिया से पीड़ित पुरुषों को प्रभावित करता है। इसके कारण लिंग की चमड़ी और सिर पर लाली, जलन, सूजन, दर्द और खुजली होता है। जिसकी वजह से पेशाब करने में परेशानी होती है। इन सबके अलावा भी बहुत से ऐसे कारण हैं जिसकी वजह से एक पुरुष के लिंग की चमड़ी में सूजन हो सकता है।

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Gmail: dr.b.k.kashyap@gmail.com

Blogger:  https://drbkkashyap.blogspot.com/   

Justdial:

https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-in-Civil-Lines/group


Website:  http://www.drbkkashyapsexologist.com/

https://www.kashyapclinic.com

https://www.youtube.com/c/KashyapClinicPrayagraj/videos

https://www.facebook.com/kashyapclinicprayagraj

https://www.instagram.com/kashyapclinicprayagraj

Lybrate:  https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist

Sehat :  https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad

Linkdin: https://www.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780/?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 1 =